कलाकार हेमा उपाध्याय और उनके वकील के मर्डर केस में हुए कई नए खुलासे…

Browse By

कलाकार हेमा उपाध्याय और उनके वकील के मर्डर केस में हुए कई नए खुलासे...

हेमा उपाध्याय मर्डर केस

Alisha Nair | News18Hindi Updated: September 12, 2017, 11:27 PM IST
मशहूर कलाकार हेमा उपाध्याय और उनके वकील हरीश भंबानी के मर्डर केस में हेमा के परिवार ने कई सवाल उठाए हैं. वहीं इन्वेस्टिगेशन के दौरान केस के ट्रांसफर पर भी सवाल उठाए गए. मुंबई के कांदिवली इलाके में 11 दिसंबर को हुए हाई प्रोफाइल हेमा उपाध्याय और उनके वकील हरीश भंबानी की हत्या के केस में एक नया पन्ना खुला है.

हेमा उपाध्याय के परिवार और उनके वकील विनोद गंगवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर मीडिया को बताया कि ये मर्डर केस सबसे पहले कांदिवली पुलिस स्टेशन इन्वेस्टिगेट कर रही थी, लेकिन 18 मई को ये मामला घाटकोपर क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर किया गया और ये ट्रांसफर जेल में बंद आरोपी चिंतन उपाध्याय के परिवार के निवेदन पर किया गया था.

वकील विनोद गंगवाल ने आरोप लगाया कि कांदिवली पुलिस के इन्वेस्टिगेशन से हम बहुत संतुष्ट थे. लेकिन आरोपी चिंतन उपाध्याय जो सलाखों के पीछे है, अपनी राजनीतिक ताकत की वजह से अंदर होने के बावजूद भी बाहर के सारे काम कर रहा है. जिस वजह से ये मामला तक ट्रांसफर हो गया.

उन्होंने साथ ही ये जानकारी भी दी कि इस मर्डर केस में चार और लोगों को गिरफ्तार किया गया है लेकिन एक आरोपी अब भी फरार है. जब से ये केस घाटकोपर क्राइम ब्रांच को सौंपा गया है तब से इस मामले में कोई गुत्थी नहीं सुलझी. इस मामले में दो चार्जशीट पहले ही फ़ाइल की गई है वहीं घाटकोपर क्राइम ब्रांच की ओर से जो सप्लिमेंट्री चार्जशीट फ़ाइल हुई है, उसमें घाटकोपर क्राइम ब्रांच की ओर से कोई काम नहीं किया गया, ये साफ पता चल रहा है. इस चार्जशीट में पुराने इन्वेस्टिगेशन को ही मेंशन किया गया है.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद हेमा के भाई मनीष मिरानी ने कहा कि हमें सिर्फ कोर्ट से उम्मीद है कि जल्द से जल्द हेमा और हरीश को इंसाफ मिलेगा. वहीं हेमा की नजदीकी रिश्तेदार सीमा ने कहा कि बच्ची हमारी मरी है, जिसका दर्द अब तक हम बर्दाश्त कर रहे हैं. आरोपी को सज़ा मिले और हमे इंसाफ मिल जाए यही मेरी प्रार्थना है.

वकील विनोद गंगवाल ने चिंतन उपाध्याय और जाने-माने वकील राजा ठाकरे पर भी सवाल उठाए. गंगवाल ने बताया कि राजा ठाकरे जो सबसे बड़े और जाने-माने वकील कहलाए जाते हैं, जो महाराष्ट्र राज्य के बड़े-बड़े मामलों को सुलझा लेते हैं, जो सरकार की ओर से रिप्रेजेंट होते हैं, वही वकील आज डिफेंस के तौर पर लड़ रहे हैं, ये काफी आश्चर्य की बात है. जो वकील राज्य की ओर से मैटर हैंडल करता है वो आज एक आरोपी को सपोर्ट कैसे कर रहा है?

उन्होंने साथ ही ये भी जानकारी दी कि ये मामला कांदिवली पुलिस से घाटकोपर क्राइम ब्रांच किस आधार पर ट्रांसफर किया गया है. ये भी पता नहीं और घाटकोपर क्राइम ब्रांच के पास मामला सौंपने के बाद कुछ काम नहीं हुआ है. बता दें हेमा उपाध्याय का परिवार इस मामले को लेकर अब मुंबई हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाएगा. इस मामले में ऐसे कई सवाल हैं जो अब भी सुलझने बाकी हैं.

ये भी पढ़ें-
हेमा उपाध्याय मर्डर केस: मुंबई पुलिस ने पति, अन्य के खिलाफ दाखिल किया आरोप पत्र
हेमा उपाध्याय मर्डर केस: विवादों से घिरे रहने वाला जयपुर का आर्टिस्ट चिंतन गिरफ्तार

 

First published: September 12, 2017

Source | hindinews18

%d bloggers like this: