आजमगढ़: डिप्टी सीएम ने 25 किसानों में बांटा ऋणमाफी प्रमाण पत्र | livehindustan

Browse By

नगर के आईटीआई मैदान में सोमवार को आयोजित ऋण मोचन योजना के पहले चरण में ऋण माफी प्रमाण पत्र वितरण समारोह डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के हाथों 25 किसान ही प्रमाण पत्र ले पाए। जबकि 35 किसानों को चिन्हित कर सूची तैयार की गई थी। इसमें से 10 किसान आए ही नहीं थे। यही नहीं पंडाल में भी लगभग 12 फीसदी किसान प्रमाण पत्र लेने नहीं पहुंचे थे। जबकि 5026 किसानों में प्रमाण पत्र बांटा जाना था।

आईटीआई मैदान में सोमवार को 5026 किसानों में ऋण माफी प्रमाण पत्र का वितरण किया जाना था। किसानों के लिए पंडाल में ब्लाक वार नंबरवार कुर्सी लगाई गई थी।चिलचिलाती धूप में किसान सुबह 11 बजे से ही छिट-पुट पहुंचने लगे थे। दोपहर एक बजे तक पंडाल में आधे से अधिक कुर्सियां खाली रही। दोपहर ढाई बजे डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के आने पर भी पंडाल पूरी तरह भर नहीं पाया था।

40 मिनट तक संबोधन के बाद डिप्टी सीएम बिना प्रमाण पत्र वितरण किए ही जाने के मूड में थे। तब तक मीडियाकर्मियों ने याद दिला दिया। तब कहीं जाकर उन्होंने मंच पर 25 किसानों में आनन-फानन में प्रमाण पत्र का वितरण किया। जबकि अधिकारियों ने डिप्टी सीएम के हाथों 35 किसानों को प्रमाण पत्र देने की सूची तैयार की थी। इसमें से कल्पनाथ मौर्य, सुनील कुमार राय, रामकिशुन राम, इंद्रसेन राय, रामजी राम, लालजी राय, शिबबचन सरोज, जगराम मौर्या, ललीता सिंह, रामअवध यादव प्रमाण पत्र लेने के लिए कार्यक्रम में नहीं पहुंचे थे।

दूसरी तरफ पंडाल में 5001 किसानों में ऋण माफी प्रमाण पत्र का वितरण किया जाना था। पंडाल में भी 12 फीसदी किसान नहीं पहुंचे थे। लगभग छह सौ किसान प्रमाण पत्र लेने से वंचित रह गए।

%d bloggers like this: