सेफ्टी पर नहीं होगा कोई समझौता : गोयल 

Browse By

no compromise on safety said minister of railways

रेल मंत्री पीयूष गोयल।
नई दिल्ली
लगातार एक के बाद एक हो रही रेल दुर्घटनाओं के बीच रेलमंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि ट्रेनों की सेफ्टी से किसी तरह का समझौता नहीं किया जाएगा। यह हो सकता है कि ट्रेन लेट हो जाए या उसे रद्द करना पड़े, लेकिन सेफ्टी को किसी तरह से भी नजरंदाज नहीं किया जाएगा। उन्होंने यह भी संकेत दिए कि अगर रेल ट्रैक बिछाने के लिए अगर भारत में स्टील की कमी होती है तो उसका आयात भी किया जा सकता है।

रेलमंत्रालय में बातचीत करते हुए रेलमंत्री ने कहा कि रेल सेफ्टी सबसे महत्वपूर्ण है और वही रेलवे की प्राथमिकता भी होगी। उन्होंने कहा कि ट्रेन चलाने से पहले यह सुनिश्चित किया जाएगा कि रेल ट्रैक दुरुस्त हों। ट्रेन भले ही कुछ देर के लिए लेट हो, लेकिन वह यात्रियों को सुरक्षित लेकर पहुंचनी चाहिए। रेलमंत्री ने यह भी कहा कि उनका प्रयास है कि जिन ट्रैक को बदलने की जरूरत है, उन्हें जल्द से जल्द बदला जाए। अगर ट्रैक की कमी है तो उसका आयात भी किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि यह भी संभव है कि आयात होने से भारत में ही प्रतिस्पर्धा बढ़ जाए और ट्रैक में इस्तेमाल होने वाला स्टील सस्ता भी हो जाए और भारतीय कंपनियां अपना उत्पादन भी बढ़ा दें।

उन्होंने कहा कि अब रेलवे इस बात की तैयारी कर रहा है कि वह हर ट्रैक की आयु तय करे और एक तय अवधि के बाद जांच की जाए और अगर उसमें गड़बड़ है तो उसे बदला जाए। ताकि हादसे से पहले ही एहतियाती कदम उठाए जा सकें।

उल्लेखनीय है कि हाल ही में नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के समीप एक के बाद एक हुए हादसों के बाद कुछ ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। रेलवे सूत्रों का कहना है कि रेलवे चाहती है कि इस रूट के ट्रैक को पूरी तरह से दुरुस्त कर दिया जाए इसलिए कुछ ट्रेनों को अल्पावधिक के लिए रद्द किया गया है। इनमें कम दूरी और लंबी दूरी की ट्रेनें शामिल हैं।

navbharattimes

%d bloggers like this: