सोने में आई करीब 1000 रुपये की तेजीः 10 महीने की ऊंचाई पर जा पहुंचा GOLD

Browse By

नई दिल्ली: आज मजबूत ग्लोबल संकेतों के दम पर सोने के दाम में इतनी तेजी आई है कि दाम 10 महीने के ऊंचे स्तर पर जा पहुंचे हैं. उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच तनाव गहराने से वैश्विक बाजार में सोना चढ़ा है. इस साल में एक दिन में होने वाली सबसे बड़ी छलांग सोने में आज दर्ज की गई है. हालांकि, कल सर्राफा बाजार में सोने के दाम में गिरावट देखी गई थी वहीं श्राद्ध पक्ष के कारण लोकल ज्वैलर्स की मांग आज भी कमजोर रही है.

सोने में शानदार तेजी के बाद यहां जा पहुंचे सोने के दाम
मजबूत वैश्विक संकेतों से स्थानीय सर्राफा बाजार में आज सोना 990 रुपये उछलकर 31350 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया. यह सोने का पिछले दस महीने का उच्चतम स्तर है. इससे डॉलर की विनिमय दर में भी गिरावट आई और यह 2015 के बाद के सबसे निचले स्तर पर आ गया. राष्ट्रीय राजधानी में 99.9 फीसदी और 99.5 फीसदी शुद्धता वाला सोना प्रत्येक 990-990 रुपये उछलकर क्रमश: 31,350 रुपये और 31,200 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया. यह नवंबर 2016 के बाद का उच्चतम स्तर है. पिछले दो कारोबारी सत्र में यह 240 रुपये टूटा था. हालांकि आठ ग्राम वाली गिन्नी 24,600 रुपये पर टिकी रही.

वैश्विक स्तर पर सिंगापुर में सोना 0.31 फीसदी चढ़कर 1352.80 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गया. यह सितंबर 2016 के बाद का उच्चतम स्तर है. चांदी भी 0.13 फीसदी चमककर 18.13 डॉलर प्रति औंस रही. डॉलर के कमजोर पड़ने का लाभ सोने को मिला और वैश्विक बाजार में सोना एक साल के उच्चतम स्तर तक पहुंच गया. इसके अलावा उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच तनाव बढ़ने से भी इसको मजबूती मिली. वायदा बाजार में तेजी के संकेत ने भी सोने का भाव बढ़ाया.

कैसी रही चांदी की चाल
सिक्का निर्माताओं और इंडस्ट्रियल यूनिट्स की बढ़ी मांग के कारण चांदी में भी मजबूती रही और आज ये 42 हजार रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई. कारोबारियों ने बताया कि अमेरिका में उम्मीद से कमतर रोजगार के आंकड़े आने के बीच इरमा चक्रवात से भारी तबाही होने की चेतावनी के बीच डॉलर 2015 के बाद के सबसे निचले स्तर पर आ गया.

चांदी भी 100 रुपये मजबूत होकर 42 हजार रुपये प्रति किलो पर पहुंच गई है. साप्ताहिक आपूर्ति वाली चांदी 580 रुपये तेज होकर 41,770 रुपये प्रति किलोग्राम रही. हालांकि चांदी के सिक्कों के भाव अपरिवर्तित रहे. सिक्का (लिवाल) 74 हजार रुपये और सिक्का (बिकवाल) 75 हजार रुपये प्रति सैंकड़ा पर टिके रहे.

Source | abpnews

%d bloggers like this: