म्यांमार में सभी पक्ष एकता को संरक्षित रखने के लिए काम करें: पीएम मोदी

Browse By

म्यांमार में सभी पक्ष एकता को संरक्षित रखने के लिए काम करें: पीएम मोदी

All stakeholders
म्यांमार में सभी पक्ष एकता को संरक्षित रखने के लिए काम करें: पीएम मोदी

भाषा Updated: September 6, 2017, 11:36 PM IST

एक आधिकारिक बयान के अनुसार सू की ने टेलीफोन पर हुई बातचीत के दौरान एर्दोआन से कहा कि रोहिंग्या मुस्लिमों के लिए सहानुभूति ‘सोच समझकर फैलायी गई गलत सूचनाओं से उत्पन्न हुई है ताकि विभिन्न समुदायों के बीच समस्याएं उत्पन्न हों और इसका उद्देश्य आतंकवादियों के हितों को प्रोत्साहित करना है.’

रोहिंग्या मुस्लिमों को निशाना बनाते हुए हुई हिंसा के खिलाफ नहीं बोलने को लेकर सू की को हाल के दिनों में आलोचना का सामना करना पड़ा है. विशेष रूप से इसलिए क्योंकि उनकी पूर्ववर्ती छवि मानवाधिकारों की रक्षा की हिमायत करने वाली रही है.

रखाइन प्रांत में पिछले महीने रोहिंग्या आतंकवादियों की ओर से पुलिस चौकियों पर हमला किए जाने के बाद से सैकड़ों लोग मारे जा चुके हैं.

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने आह्वान किया है कि रखाइन प्रांत के रोहिंग्या मुसलमानों को या तो नागरिकता दी जाए या कानूनी दर्ज़ा प्रदान किया जाए. उन्होंने हिंसा पर चिंता जताई जिसके चलते अगस्त के अंत से लगभग 1,25,000 लोगों को वहां से भागना पड़ा है और क्षेत्र में अस्थिरता का ख़तरा उत्पन्न हुआ है.

First published: September 6, 2017

Source | hindinews18

%d bloggers like this: