200 करोड़ की मालकिन की मौत बनी पहेली

Browse By

200 करोड़ की मालकिन की मौत बनी पहेली

सांकेतिक तस्वीर

भवानी सिंह | News18Hindi Updated: August 31, 2017, 11:43 PM IST
200 करोड़ की मालकिन शुंभागना ने खुदकुशी की या फिर किसी ने हत्या की. जयपुर पुलिस के सामने 40 साल की शुंभागना उर्फ रुचिरा की मौत पहली बन गई. पिता की ओर से सौंपे गए मेल और दस्तावेज और पति के दावों के बाद पुलिस सच तक पहुंचने के लिए अब घर से कॉलेज के सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है.

जयपुर में पेज थ्री का जाना-माना चेहरा और सोशलाईट शुंभागना की लाश शनिवार को बंगले में फंदे से लटकी मिली. एक साल से वो पति राजकुमार सावलानी से अलग रह रही थी. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद पुलिस फिलहाल इसे खुदकुशी मान रही है लेकिन हत्या से भी इंकार नहीं कर रही है. अब सवाल ये है कि शुंभागना ने अगर खुदकुशी की तो क्यों. शुंभागना की पूरी कहानी ही फिल्मी है.

करोड़पति की बेटी शुंभागना फिल्मी स्टाइल में 15 साल की कच्ची उम्र में उस राजकुमार को दिल दे बैठी, जो पहले जयपुर में अंडे का ठेला लगाता था और बाद में वीडियो पार्लर शुरू किया था. परिवार के विरोध के बावजूद भागकर उसने राजकुमार से प्रेम विवाह किया.

शादी के बाद जसोदा देवी एजुकेशन ग्रुप के नाम से शुंभागना ने अपना बिजनेस खड़ा किया. पिता का आरोप है कि पति राजकुमार शादी के बाद अय्याश हो गया. महंगी लग्जरी कारों जगुआर, लैंड रोवर, ऑडी जैसी कारों का शौकीन था राजकुमार. पिता प्रेम सुराणा ने पुलिस में दर्ज कराए केस में आरोप लगाया कि पति राजकुमार के महिला कर्मचारियों और नौकरानी से अवैध संबंध थे. इससे परेशान हो कर ही पति के घर और दफ्तर में प्रवेश पर उसने रोक लगा दी थी.प्रेम सुराणा ने पुलिस को शुंभागना के मौत से पहले लिखे ईमेल और मैसेज बतौर सबूत पुलिस को सौंपे. मौत वाली रात को ही दस बजे राजकुमार कॉ़लेज पहुंच गया औऱ सुबह सात बजे कॉलेज से निकला. शुंभागना का शव पर ज्वैलरी और पार्टी वियर ड्रेस भी मिला. आखिर उसने चेंज क्यों नहीं किया. लेकिन घर में उस रात बेटा मिहिर और नौकरानी थे. दोनों ने ही कहा कि उन्होंने शुंभागना को सुबह फंदे से लटके देखा.

घर के बाहर दो सुरक्षा गार्ड ने भी किसी को आते या जाते नहीं देखा. इसके अलावा सीसीटीवी कैमरे में भी किसी के आने या जाने के फुटेज नहीं है. उधर पति राजकुमार सावलानी ने आरोप लगाया कि प्रेम सुराणा उसे जबरन फंसाने की कोशिश कर रहे हैं. राजकुमार ने कहा शुंभागना ने पिता के दबाव से परेशान होकर खुदकुशी की. उस रात चार बजे राजकुमार ने शुंभागना से एक घंटे फोन पर बात की. लेकिन पिता का आरोप है कि हत्या के बाद उसके फोन का इस्तेमाल हुआ था.

First published: August 31, 2017

hindi.news18

%d bloggers like this: