‘ब्लू व्हेल चैंलेंज’ रोकने के लिए स्कूल प्रिंसिपल को चिट्ठी

Browse By

इमेज कॉपीरइट REUTERS/Adnan Abidi
Image caption [फ़ाइल फ़ोटो]

बच्चों में एक क्रेज़ की तरह फैल रहे ‘ब्लू व्हेल चैंलेंज’ मोबाइल गेम पर लगाम लगाने के लिए महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने एक हेल्पलाइन जारी है.

महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने भारत से सभी स्कूलों के प्रिंसिपलों के नाम एक ख़त जारी कर कहा है कि बच्चों में आत्महत्या करने की भावना को बढ़ाने वाले इस गेम से वो चिंतित हैं.

उन्होंने लिखा है, “ये दुख की बात है कि हम अपने छोटे बच्चों को आत्महया करने के लिए उकसाने वाले इस गेम की चपेट में देख रहे हैं.”

“कुछ दिनों पहले मैंने कैबिनेट में अपने सहयोगियों से गुज़ारिश की है कि वो इस गेम के डाउनलोड होने से रोकने के लिए कुछ तकनीकी उपाय सोचें.”

किसने मजबूर किया ‘आत्महत्या’ वाला ‘ब्लू व्हेल’ खेलने के लिए

क्या ऑनलाइन गेम ने ली मुंबई के मनप्रीत की जान?

इमेज कॉपीरइट EPA/CHRISTOPHER JUE

इसी महीने की शुरूआत में मुंबई में एक 14 साल के बच्चे की ख़ुदकुशी के बाद ‘ब्लू व्हेल चैलेंज’ को लेकर बड़ा विवाद छिड़ गया था.

आईटी मंत्रालय ने 11 अगस्त को एक पत्र लिखकर तकनीकी कंपनियों से कहा है कि भारत में इस गेम के कारण बच्चों के आत्महत्या करने की ख़बरें मिल रही हैं.

इसके बाद सरकार ने गूगल, फ़ेसबुक, इंस्टाग्राम, माइक्रोसोफ़्ट और याहू से कहा है कि वो ‘ब्लू व्हेल’ मोबाइल गेम के सभी लिंक तत्काल हटाने के निर्देश दिए थे.

ख़तरनाक ‘ब्लू व्हेल’ गेम का खेल होगा ख़त्म!

स्कूलों के प्रिंसिपलों को लिखे अपने ख़त में मेनका गांधी ने कहा है कि इस विषय में टीचरों और बच्चों को जागरूक करने की ज़रूरत है ताकि और बच्चे इससे दूर रहें.

उन्होंने लिखा, “आप बच्चों पर निगरानी रखें. और अगर आप बच्चे में इस गंम से संबंधित किसी तरह के कोई लक्षण देखें तो अभिभावकों से संपर्क करें. हेल्पलाइन नंबर 1098 पर फ़ोन कर इस बारे में जानकारी दी जा सकती है. इस नंबर पर ज़रूरी सहायता भी मिलेगी.”

आख़िर ब्लू व्हेल से क्यों डरी हुई हैं मांएं?

क्या है ब्लू व्हेल चैलेंज?

माना जाता है कि इस जानलेवा गेम की शुरुआत रूस से हुई थी.

गेम के ऐडमिन फ़िलिप बुदेकिन को इसी साल मई में गिरफ़्तार भी किया गया था.

मोबाइल, लैपटॉप या डेस्कटॉप पर खेले जानेवाले इस गेम में प्रतियोगियों को 50 दिनों में 50 अलग-अलग चैलेंज पूरे करने होते हैं. इस खेल का आखिरी चैलेंज होता है आत्महत्या.

भारत में यह गेम हाल ही चर्चा में आया है, लेकिन रूस से लेकर अर्जेंटीना, ब्राजील, चिली, कोलंबिया, चीन, जॉर्जिया, इटली, केन्या, पराग्वे, पुर्तगाल, सऊदी अरब, स्पेन, अमेरिका, उरुग्वे जैसे देशों में कम उम्र के कई बच्चों ने इस चैलेंज की वजह से कथित तौर पर अपनी जान गंवाई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

Source | BBC

%d bloggers like this: