हर-हर महादेव से गूंजे शिवालय | livehindustan – Insta India

हर-हर महादेव से गूंजे शिवालय | livehindustan

Browse By

महाशिवरात्रि के अवसर पर शिवालय हर-हर महादेव की जयघोष से गूंजते रहे। प्राचीन वामदेवेश्वर मंदिर समेत अनेक शिवमंदिरों में सुबह से ही भक्तों का पूजन-अर्चन के लिए तांता लगा रहा।

भक्तों ने शिवलिंग का जलाभिषेक कर बेलपत्र, पुष्प, फल-फूल, भांग धतूरा आदि चढ़ाए। यह सिलसिला देर रात तक चलता रहा। शाम को कुछ देर के लिए बांबेश्वर मंदिर में शिवलिंग गुफा के पट बंद कर दिए गए और अर्द्धनारीश्वर का श्रृंगार किया गया। जिसके दर्शनों के लिए लोग उमड़ पड़े।

महर्षि वामदेव द्वारा स्थापित शिवलिंग की प्रतिमा का पूजन अर्चन के लिए बुधवार की भोरकाल से ही वामदेवेश्वर मंदिर में भक्तों का भारी हुजूम उमड़ पड़ा। लोगों को पूजन-अर्चन करने के लिए घंटों लाइन में खड़े रहकर अपनी बारी का इंतजार करना पड़ा। मंदिर कमेटी कार्यकताओंर् ने श्रद्घालुओं की उमड़ने वाली भीड़ को देखते हुए बेहतर इंतजाम किए थे। मंदिर के नीचे से लेकर ऊपर तक बैरीकेटिंग का इंतजाम किया गया था। पूरी सीढ़ियों में जगह-जगह दो-दो कार्यकर्ताओं को लगाया गया था, ताकि शिव की गुफा तक पहुंचने में महिलाओं और पुरुष श्रद्घालुओं को किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े। कार्यकर्ताओं ने बैरिकेटिग के जरिए महिलाओं और पुरुषों के लिए अलग-अलग रास्ता बनाया था। ताकि किसी भी प्रकार की धक्का-मुक्की न हो सके। बीच-बीच में श्रद्धालु भगवान शिव का गगनभेदी जयघोष लगाते रहे। इससे पूरा माहौल भक्तिमय नजर आया। कतार में खड़े बीस से पच्चीस श्रद्धालुओं को भेजकर भगवान शिव के दर्शन कराए गए। इसके अलावा सुरक्षा व्यवस्था की दृष्टि से पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल भी तैनात रहा। शिखर के ऊपर स्थित सिद्धबाबा के दर्शनों के लिए भी श्रद्धालु गए। पूजन अर्चन के पश्चात पहाड़ के ऊपर मनोहारी छटाओं को देख मंत्रमुग्ध हो गए। इसके अलावा शहर के पंचानन आश्रम, महेश्वरी देवी मंदिर, बलखंडेश्वर मंदिर, महामाई मंदिर, काली देवी मंदिर आदि में भी श्रद्धालुओं की भारी भीड़ पूजन-अर्चन के लिए उमड़ी। यह सिलसिला देर रात तक जारी रहा।

मेले में जमकर की खरीदारी

वामदेवेश्वर मंदिर परिसर के नीचे लगे मेले में शिव दर्शन करने आए श्रद्धालुओं ने खरीददारी भी की। नीचे लगी दुकानों में लोगों ने जमकर खरीदारी की। वहीं बच्चों ने खिलौने खरीदे। इसके अलावा महिलाओं ने भी पूजा से संबंधित सामान चंदन, कुमकुम, तांबे के लोटे, चूड़ियां आदि खरीदे।

तीसरी आंख से हुई निगरानी

शहर के वामदेवेश्वर मंदिर में श्रद्घालुओं की भीड़ को देखते हुए जिला प्रशासन ने पूरी तैयारी कर रखी थी। मंदिर परिसर को कैमरों से लैस किया गया था और पुलिस अफसर टीवी स्क्रीन पर बैठकर मंदिर का जायजा लेते रहे। मंदिर की व्यवस्था को परखने के लिए आला अधिकारियों ने भी मंदिर का भ्रमण कर सुरक्षा का जायजा लेते रहे। सीओ सिटी राघवेंद्र सिंह, सिटी मजिस्ट्रेट रमेश तिवारी, शहर कोतवाल श्रीनिवास यादव, यातायात प्रभारी मुन्ना बाबू निरंजन और टीएसआई आफाक खान के साथ ही महिला पुलिस बल ने मंदिर व श्रद्घालुओं की सुरक्षा की जिम्मेदारी को संभाला। इसके अलावा मन्दिर कमेटी ने खुद ही व्यापक इंतजाम किये थे।

नीलकंठेश्वर में उमड़ पडे़ श्रद्धालु

कालिंजर। महाशिवरात्रि के पर्व पर कालिंजर दुर्ग में स्थित भगवान नीलकंठेश्वर में श्रद्घालुओं का रेला पहुंच गया। हर-हर-बम-बम के उद्घोष से शिवालय गुंजायमान हो गये। श्रद्घालुओं में जलाभिषेक के साथ ही दुग्धाभिषेक की किया। सुबह से शुरू हुआ शिव दर्शन व आराधना का सिलसिला देर शाम तक चलता रहा। पूजन के पश्चात दूरदराज से आए श्रद्धालुओं ने दुर्ग का भी अवलोकन किया। श्रद्धालुओं ने शिव का रुद्राभिषेक कर हर-हर महादेव का उद्घोष किया।

स्टाल लगाकर वितरित किया प्रसाद

महाशिवरात्रि के मौके पर जगह-जगह पर स्टाल लगाकर प्रसाद का वितरण किया गया। मन्दिर कमेटी के लोगों ने मन्दिर से बाहर निकलने वाले रास्ते पर स्टाल लगाया था। जहां से सभी बाहर जाने वाले भक्तों को प्रसाद का वितरण किया गया। इसके अलावा शहर के कैलाशपुरी में प्रसाद वितरण किया गया।

श्रद्धालुओं ने जलाभिषेक कर पुण्य लाभ कमाया

नरैनी। शिवालवों में शिव भक्तों की भारी भीड़ जुटी रही। सुबह चार बजे से हर-हर महादेव के जयघोष के साथ ही भक्तों ने जलाभिषेक कर बेल पत्र व फूल भांग,धतूरा के फल चढा़कर पूजन किया। शिव लिंग के दर्शनार्थ श्रद्धालु भक्तों का तांता लगा रहा। इसके अलावा शिवरात्रि का ब्रत निर्जला रख पूजा-अर्चना किया। इसी दिन कस्बे के आदि भक्तों द्वारा करून देवी से शिव बरात पूरे साज-सज्जा के साथ निकाली जायेगी जो देर रात कस्बे की मुख्य सड़क से होते हुये चौराहा तक जायेगी। श्रद्धालु भक्तों के द्वारा सभी बरातियों को जगह-जगह जलपान करवा कर स्वागत किया जायेगा।

गौराबाबा धाम में भक्तों ने किया जलाभिषेक

अतर्रा। गौराबाबा महाराज को भक्तों ने गंगाजल, दूध, शक्कर, दही, शहद से अभिषेक करने के बाद बेलपत्र, धतुरा फल, मंदार पुष्प व अन्य सुगन्धित पुष्पों को अर्पित कर भांग और इत्र आदि भी समर्पित किया। इस दौरान लोगों ने शिव का प्रसाद भांग, ठण्डई भी आने जाने वाले श्रद्घालुओं के बीच वितरित किया। भरत लाल गुप्ता, दीपक गौरव उर्फ गद्दू, अर्पित, गुलाब, रिंकू, अंकित, गोपी यादव, मंगल आदि लोग सेवा में डटे रहे। पूरे समय उपजिलाधिकारी प्रहलाद सिंह, क्षेत्राधिकारी कुलदीप गुप्ता, थानाध्यक्ष दुर्गविजय सिंह सहित भारी फोर्स व्यवस्था में मुस्तैद रहे।