फैजाबाद : पशु वध रोकने गए चौकी इंचार्ज पर बांके से हमला, हाथ काटा | livehindustan

Browse By

पशु वध रोकने गये पुलिस दल पर बांका से हमला कर दिया गया। इस हमले में चौकी इंचार्ज सहित दो सिपाही घायल हो गये। गम्भीर रूप से घायल चौकी इंचार्ज को तत्काल सीएचसी रुदौली ले जाया गया। डॉक्टरों ने उन्हें जिला अस्पताल रेफर कर दिया। घटना के बाद मवई, पटरंगा, रुदौली व खंडासा सहित चार थानों की पुलिस ने मौके पर पहुंच कर स्थिति को काबू में किया। घटना की सूचना मिलते ही एसएसपी व सीओ ने भी घटनास्थल का जायजा लिया। पुलिस ने मौके से तीन कुंतल मांस के साथ दो कसाइयों को गिरफ्तार किया।

जानकारी के मुताबिक शुक्रवार की रात करीब 10 बजकर 45 मिनट पर चौकी प्रभारी बाबा बाजार रमापति सिंह को मुखबिर से सूचना मिली कि मीरमऊ गांव में ईदगाह के पीछे तालाब के किनारे दो लोग मौजूद हैं। सूचना के बाद चौकी इंचार्ज रमापति ने उप निरीक्षक कर्मवीर सिंह, हमराही सिपाही केके सिंह, अशोक सिंह, गिरीश पाल व रूपेश पाल के साथ दबिश दी। पुलिस के मुताबिक रुदौली नगर के नवाब बाजार निवासी मो. वारिस और मवई गांव निवासी मो. जाबिर मौके पर मिले।

पुलिस ने जाबिर अली को पकड़ लिया, पर मो. वारिस समीप के तालाब में कूद गया। चौकी इंचार्ज भी तालाब में कूदे तो मो. वारिस ने उन पर बांके से वार कर दिया जो उनके दाहिने हाथ पर लगा। इससे उनके हाथ में कई जगह गंभीर चोट लगी। चौकी इंचार्ज की कराह सुनकर पीछे से हमराही सिपाही केके सिंह भी तालाब में कूद गए। इन पर भी वारिस ने हमला किया। केके सिंह की एक उंगली कट गई। वहीं साथ में मौजूद रहे फालोवर महादेव भी घायल हो गए। घटना के बाद जब यह सूचना वायरलेस पर गूंजी तो चार थाने मवई, पटरंगा, रुदौली और खंडासा के एसओ भारी पुलिस बल के साथ सीओ विक्रम सिंह के नेतृत्व में मौके पर पहुंचे। सीओ रुदौली विक्रम सिंह ने बताया कि पुलिस ने दोनों आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। घायल चौकी प्रभारी को सीएचसी रुदौली में भर्ती कराया गया था। जहां से जिला अस्पताल रेफर किया गया। मवई कोतवाल अमर सिंह ने बताया कि दोनों आरोपियों पर मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा जा रहा है ।

Source | livehindustan

%d bloggers like this: