सीवर टैंक खाली कराना होगा अब तीन गुना महंगा | livehindustan – Insta India

सीवर टैंक खाली कराना होगा अब तीन गुना महंगा | livehindustan

Browse By

अब नगर निगम सीवर टैंक की सफाई का चार्ज तीन गुना वसूलेगा। इसका पूरा खाका तैयार कर लिया है। नगर निगम सदन की अंतिम मोहर लगवाने को निगम प्रशासन अगले सदन में इस प्रस्ताव को ला रहा है।

अभी तक नगर निगम प्रशासन बड़े सीवर टैंक को खाली करने की एवज में 1500 और छोटे टैंक को खाली करने की एवज में 850 रुपये की वसूली करता है। कारण, नगर निगम प्रशासन द्वारा टैंकों से समेटे गए सीवर को मथुरा रोड स्थित एक नाले में प्रवाहित करता है। अब केंद्र सरकार ने नहरों अथवा नाले में सीवर प्रवाहित करने पर प्रतिबंध लगा दिया है। अलीगढ़ में सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट नहीं है। इसलिए नगर निगम प्रशासन ने मथुरा और आगरा के नगर निगम से अलीगढ़ का सीवरेज ट्रीटमेंट करने की बात की। मथुरा नगर निगम ने अपने सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट की क्षमता कम होने की वजह से इनकार कर दिया। मगर आगरा नगर निगम प्रशासन ने क्लीन चिट दे दी। अलीगढ़ से सीवरेज आगरा के सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट तक पहुंचाने की दूरी 99 किमी. हैं। इस पर आने वाले खर्च का पिछले दिन अलीगढ़ नगर निगम प्रशासन आंकलन किया। इसके लिए छोटी और बड़ी सीवर जेटिंग मशीन को भेजा गया। दोनों मशीनों के आगरा से लौटने पर पता चला कि प्रति चक्कर करीब 4500 रुपये अतिरिक्त बोझ पड़ेगा। इसमें टोल प्लाजा का आने-जाने का चर्च 1600 रुपये, डीजल की खपत और दो कर्मियों के एक दिन का वेतन मिलाकर करीब 2900 रुपये का खर्च है। नगर निगम प्रशासन इतने अतिरिक्त खर्च को नहीं झेल सकता है। इसलिए अधिकारियों ने फैसला लिया है कि इस खर्चे को सीवर टैंक खाली करवाने वाले व्यक्ति से ही वसूला जाएगा।

संयुक्त नगर आयुक्त शिवपूजन यादव का कहना है कि अलीगढ़ से सीवरेज आगरा पहुंचाने में आने वाले खर्च का गाड़ियां भेजकर आंकलन किया गया है। चूंकि सीवरेज आगरा ही भेजना है, इसलिए इसका चार्ज बढ़ाने के अलावा कोई विकल्प नहीं है। अगले ही सदन में सीवरेज चार्ज बढ़ाने का प्रस्ताव लाया जाएगा। सदन की मोहर लगने के बाद लोगों से बढ़ा हुआ चार्ज ही वसूला जाएगा।

Source | livehindustan