राष्ट्रद्रोह जैसा माना जाएगा अफसरों का ये काम, होगी कार्रवाई | PATRIKA – Insta India

राष्ट्रद्रोह जैसा माना जाएगा अफसरों का ये काम, होगी कार्रवाई | PATRIKA

Browse By

झांसी। जिलाधिकारी कर्ण सिंह चौहान ने यहां विकास भवन के सभागार में आयोजित राज्य पोषण मिशन की बैठक में निर्देश दिए कि अधिकारी स्वयं अपने गोद लिए गांव में भ्रमण कर कुपोषित बच्चों का सत्यापन कर रिपोर्ट प्रेषित करें। यदि क्रास चेकिंग में अधिकारी वीएचएनडी दिवस पर अपने गोद लिए गांव में उपस्थित नहीं पाए जाते हैं तो इसे राष्ट्रद्रोह की संज्ञा माना जाएगा और कार्रवाई की जाएगी।

अधिकारी गोद लें गांव

जिलाधिकारी ने कहा कि जिले के उन सभी अधिकारियों को दो-दो गांव गोद दिए जाएं, जिनके पास वाहन हैं। उन्होंने कहा कि 62 अधिकारियों ने दो-दो गांव गोद लिए हैं। इनके अलावा अन्य अधिकारी भी गांव गोद लें। उन्होंने कहा कि राज्य पोषण मिशन के अंतर्गत गांव के बच्चों को कुपोषण से बचाना है और उन्हें स्वस्थ बनाना है। उन्होंने कहा कि जो बच्चे अतिकुपोषित श्रेणी में हों, उन्हें प्रत्येक दशा में 14 दिन उपचार के लिए पोषण पुनर्वास केंद्र मेडिकल कालेज झांसी में अवश्य भर्ती कराएं। साथ ही यह भी सुनिश्चित किया जाए कि बच्चे का इलाज पूरा हो।

वजन रजिस्टर की जांच के आदेश

जिलाधिकारी ने भ्रमण के दौरान वजन रजिस्टर की जांच के आदेश दिए। उन्होंने कहा कि अधिकारी गोद लिए गांव के लोगों को खुले में शौच न करने की भी समझाइश दें, ताकि वे बीमारी से बच सकें। उन्होंने कहा कि अकेले आईसीडीएस कुपोषण दूर नहीं कर सकेगा। अन्य विभागों को भी राष्ट्रहित में यह कार्य करना होगा।

पोषण मिशन के बारे में जानकारी दी

इस मौके पर जिला कार्यक्रम अधिकारी श्रीमती करुणा जायसवाल ने अधिकारियों को पोषण मिशन के बारे में जानकारी दी। उन्होंने अधिकारियों को पोषण मिशन के उद्देश्य, कुपोषण के प्रकार और उसकी रोकथाम के लिए लक्षित समूह आदि के बारे में जानकारी दी।

ये अधिकारी रहे उपस्थित

इस बैठक में सीडीओ ए.दिनेश कुमार, सीएमओ डा.सुरेश सिंह, डीएफओ डा.एम के शुक्ला, एडीएम हरिशंकर, एसडीएम सदर अनुन्य झा, डीडीओ रंजीत सिंह, पीडी आर के गौतम और उपायुक्त स्वरोजगार लालजी यादव सहित विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष मौजूद रहे।

Source | PATRIKA