बैंक प्रबंधक व दलाल के मकड़जाल में फंस गया है योगी सरकार का किसान ऋण माफी योजना | Ghazipurkhabar – Insta India

बैंक प्रबंधक व दलाल के मकड़जाल में फंस गया है योगी सरकार का किसान ऋण माफी योजना | Ghazipurkhabar

Browse By

जशवंत सिंह

गाजीपुर/बाराचंवर। जब सूबे में योगी सरकार बनी तो किसानो का एक लाख रूपया तक का कर्ज माफ कर दिया इस माफी से किसानो को फोरी तौर पर बहुत बडी़ राहत मिली। बैंक वालो ने किसानो को ऋण माफी का प्रमाण पत्र भी दे दिया, लेकिन योगी सरकार से किसानो को बहुत आस लगी थी। अब बैको मे दलाली बंद हो जायेगी लेकिन अन्य सरकारो से भी अधिक दलाली बढ गयी है अब किसानो के सीसी नवनीकरण का कार्य जोरो पर चल रहा है। एनओसी बनाने के लिए कोर्ट कचहरी के साथ साथ अन्य क्षेत्रिय बैको से अनापति प्रमाण प्रत्र भी लेना पड़ रहा है इसके लिए किसानो को काफी भाग दौड भी करनी पड रही है इसके बावजूद भी किसानो को तय समय पर भी बैक वाले ऋण देने मे आना कानी कर रहे है, क्षेत्र के यूनियन बैक की शाखाओ बाराचवर, मांटा, अमहट, करीमुद्धीनपुर लठुडीह कटरियां, आदि शाखाओ मे शाखा प्रबंधको द्धारा शाखा से जुडे सुविधादाताओ तथा शाखाओ मे चलाने वाले जनरेटर संचालको का बखुबी इस्तेमाल कर रहे है दलालो के तौर पर अगर इन शाखाओ मे कोई किसान जा रहा है के सी सी रिनवल कराने के लिए तो सीधे तौर पर शाखा प्रबंधको द्धारा उन किसानो को  उन दलालो से मिलने को कह रहे है और इसके बाद रिश्वत लेने का खेल शुरू हो जा रहा है पहले टर्म मे ऐनो सी के नाम पर दलाल दो हजार रूपया ले रहे है तथा एनओसी बन जाने के बाद अन्य बैको से अनापत्ति प्रमाण पत्र लेने के लिए वही दलाल एक हजार रूपया ले रहे है और किसानो से कह रहे है की इस कार्य को कराने मे कमसे कम दो से तीन दिन का समय लगेगा,आप चौथे दिन आकर मिलिए गा आपके खाते मे रूपया भेजवाना शाखा प्रबंधक से मेरा काम है आप को परेशान होने की जरूत नही है लेकिन उन दलालो का खेल अभी बाकी रहता है वो किसानो को कई रोज अपना चक्कर लगवाते है और कहते है किआज बैक का सर्व नही चला है नही तो आज आपके खाते मे रूपया जरूर चला गया होता लेकिन ऐसा कुछ नही होता है किसान कई बार दलाल का चक्कर लगाते लगाते परेसान हो जा रहा है तो बैक दलाल से पुछता है की कोई बात है तो बताईए, तब जाकर असली बात कहते है एक लाख मे बीस परसेन्ट की बात किसानो से कहते है और कहते है की ओ रूपया जो लिया जा रहा है वो रिजनल मैनेजर तक जाना है तभी वहा से वो रूपया भेजेगे वो जितना रूपया भेजते है उसके लिए शाखा प्रबंधक मांग करते है तभी वहा से रूपया आता है जिस किसान की दलालो से बात पक्की हो जा रही है उनके खाते मे चौबीस घंटे के अन्दर रूपया चला जाता है और जिस किसान की बात पक्की नही होती वो बैंक और दलाल का चक्कर लगाते लगाते थक जा रहा है अमहट गांव निवासी किसान अपना नाम न छापने की शर्त पर बताया की हम दस दिन से अमहट बैक का चक्कर लगा रहे है लेकिन कोई न कोई बहना रोज बैक कर्मी व दलाल बना दे रहा है, कुबरी गांव निवासी किसान भी इसी तरह का आरोप कामूपुर शाखा प्रबंधक और दलाल पर लया,चौथीबाध गांव निवासी किसान मांटा शाखा प्रबंधक और वहा तैनात दलालो के ऊपर लगाया ढोढहारामपुर निवासी किसान कटरिया शाखा प्रबंक और वहा तैनात दलालो पर आरोप मढा, महसनपुर गांव निवासी किसान नाम न छापने की शर्त पर बताया की खाद बीज की ब्यवस्था तो किसी तरह करके खेत की बोआई तो कर लिए है लेकिन अभी टेक्टर की जुताई के साथ अन्य कार्यो के लिए रूपया बाकी है रोजाना तगादा आ रहा है लेकिन बाराचवर शाखा प्रबंक और दलाल रोज आजकल करते हुए परेशान करके रख दिए है इस सम्बध मे जिला मुख्यालय पर तैनात एलडीएम के मोबाइल पर मिलाने पर उनका मोबाईल स्वीच आफ बता रहा था।

Source | ghazipurkhabar