पार्सल घोटाले में लिप्त दो कर्मचारियों को हटाया | livehindustan – Insta India

पार्सल घोटाले में लिप्त दो कर्मचारियों को हटाया | livehindustan

Browse By

तीनों को नकदी लेनदेन वाले पद पर तैनाती देने से लगाई गई रोक

वरिष्ठ अफसरों ने दिए थे दूसरे स्टेशन पर तबादला करने के आदेश

इलाहाबाद वरिष्ठ संवाददाता

पार्सल घोटाले में लिप्त मिले जंक्शन के पार्सल घर के तीन कर्मचारियों को हटा दिया गया है। तीनों को नकदी लेनदेन वाले पदों पर तैनाती नहीं देना तय किया गया है। हालांकि वरिष्ठ अफसरों के आदेश की अनदेखी कर इनमें से दो को डिप्टी एसएस कॉमर्शियल बनाया गया है। वहीं, तीसरे को कॉमर्शियल कंट्रोल में तैनात किया गया है। घोटाले के इस मामले में जोनल मुख्यालय के वाणिज्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने तीनों कर्मचारियों को इलाहाबाद से बाहर स्थानांतरित करने का आदेश दिया था।

विजिलेंस टीम ने शनिवार की रात जंक्शन पर छापा मारकर पार्सल घर में बड़ा घोटाला पकड़ा था। यहां पैकेट का वजन कम करके रेलवे को चपत लगाई जा रही थी। ऐसे 32 पैकेट पकड़े गए थे। इनमें 18 क्विंटल वजन कम किया गया था। दूसरा मामला गलत तरीके से जंक्शन से माल बुक करने का मामला पकड़ा गया था। माल जंक्शन पर पहुंचे बिना ही इसे रायपुर के लिए बुक कर दिया गया था। पहले मामले में एमडी पांडेय और इस्लाम तो दूसरे मामले में आशीष मिश्रा का नाम आया।

विजिलेंस टीम ने डिप्टी चीफ विजिलेंस कमिश्नर मुदित चंद्रा को रिपोर्ट सौंपी। इस मामले में उत्तर मध्य रेलवे मुख्यालय के वाणिज्य विभाग के वरिष्ट अधिकारी ने तीनों कर्मचारियों को इलाहाबाद के बाहर स्थानांतरित करने का आदेश दिया। मंडल के अफसरों ने उन्हें बाहर स्थानांतरित नहीं किया। हालांकि कार्रवाई करते हुए नकदी लेनदेन वाले पदों पर तैनाती के लिए रोक लगा दी है।

सिकंदराबाद से भी मंगाई रिपोर्ट

विजिलेंस टीम की रिपोर्ट मिलने पर डिप्टी चीफ विजिलेंस ऑफिसर मुदित चंद्रा ने सिकंदराबाद से भी रिपोर्ट मंगाई है। दरअसल, विजिलेंस टीम ने जब पैकेट का वजन कम करने का मामला पकड़ा था तो उससे पहले कुछ पैकेट सिकंदराबाद के लिए रवाना हो चुके थे। ऐसे में सिकंदराबाद में उतरने पर उन पैकेट की तौल कराई गई। बताते हैं कि इनका वजन भी कम करके दर्ज किया गया।

Source | livehindustan