निकाय चुनाव में अशांति फैलाने के लिए मंगाए गए हथियार बरामद, 4 तस्कर गिरफ्तार – Insta India

निकाय चुनाव में अशांति फैलाने के लिए मंगाए गए हथियार बरामद, 4 तस्कर गिरफ्तार

Browse By

निकाय चुनाव में अशांति फैलाने के लिए मंगाए गए हथियार बरामद, 4 तस्कर गिरफ्तार

Photo Credit : Azamgarh Police Twitter Handle

आईएएनएस Updated: October 31, 2017, 11:22 PM IST
उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले के सरायमीर थाना क्षेत्र में पुलिस और स्वाट की ज्वॉइंट टीम ने मुठभेड़ के बाद भारी मात्रा में अवैध असलहों के साथ चार तस्करों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार तस्कर बरामद हथियार निकाय चुनाव में अशांति फैलाने के लिए क्षेत्र के संभ्रांत माने जाने वाले कुछ लोगों के कहने पर लाए थे.

हथियारों की उन लोगों तक सप्लाई करने से पहले ही पुलिस ने तस्करों को पकड़ लिया. तस्करों से पूछताछ जारी है. हथियार मंगाने वालों में एक ग्राम प्रधान का नाम भी सामने आया है.

पुलिस अधीक्षक अजय कुमार सहानी ने मंगलवार को बताया कि थानाध्यक्ष सरायमीर व स्वाट पुलिस की संयुक्त टीम ने सोमवार रात करीब 20:30 बजे मुखबिर की सूचना पर थाना सरायमीर क्षेत्र के रामजानकी मंदिर के पास छित्तूपट्टी मुख्यमार्ग फूलपुर-आजमगढ़ के पास घेराबंदी की. वहां पुलिस की असलहा तस्करों से मुठभेड़ हुई.

मुठभेड़ के बाद पुलिस ने भारी मात्रा में अवैध हथियार और कारतूस बरामद किए. इसके साथ ही मौके से चार तस्करों को भी गिरफ्तार कर लिया, जिनकी पहचान तेजप्रताप राय, संतोष यादव, राजेश मिश्रा और चंदौली निवासी माता प्रसाद के रूप में हुई.उन्होंने बताया कि तस्करों के पास से 03 पिस्टल 9 एमएम, 13 पिस्टल 32 बोर, 1 रिवॉल्वर 32 बोर, 7 जिंदा कारतूस और 1 खोखा कारतूस बरामद हुए.

तस्करों ने पूछताछ में बताया कि बरामद हथियार व कारतूस उनसे नगर निकाय चुनाव 2017 में अशांति फैलाने के लिए मंगाए गए थे. तस्करों ने बताया कि वे लोग यह हथियार बिहार से लाकर पूर्वी उत्तर प्रदेश में सप्लाई करते हैं.

गिरफ्तार तस्करों ने पूछताछ में बताया कि तस्करी में क्षेत्र के कुछ संभ्रांत व्यक्ति भी शामिल हैं, जो शस्त्र मंगवाकर आसपास के जिलों में तस्करी करते हैं. उनमें मुख्य रूप से बरदह थाना क्षेत्र के रामचंद्र सरोज, थाना गंभीरपुर के गांव गोसाई की बाजार के प्रधान लाहौर यादव, लालू यादव उर्फ राहुल यादव और सरायमीर निवासी भानू यादव का नाम सामने आया है.

इस सफलता पर पुलिस उपमहानिरीक्षक आजमगढ़ परिक्षेत्र ने टीम को 15 हजार रुपये का पुरस्कार प्रदान किया है.

First published: October 31, 2017

Source | hindi.news18